Tuesday, 28 July 2020

कोरोनावायरस इन्शुरन्स क्या है ? इसकी आवश्यकता क्या है ? जानिए सबकुछ

Know Everything About Coronavirus insurance in Hindi
कोरोनावायरस जिसके बारे में सारा दुनिया जानती है साथ में इस वैश्विक महामारी जे लड़ भी रही है। भारत में भी इसका प्रकोप दिख रहा है जो की लाखों लोगो को संक्रमित कर चुके है।चीन के वुहान शहर से आया यह वाइरस काफी भयानक है, इससे सुरक्षा के लिए अभी तक कोई भी टिका नहीं बना है और चिकित्सा की दृस्टि से इस वाइरस का इलाज काफी खर्चीला होता है।

यह एक जोखिम भरा वाइरस है और इसके इलाज के कारण आर्थिक स्थिति खराब ही नहीं बहुत खराब हो जाती है। कई लोग तो ऐसे भी है जो इसके इलाज न करवा पाने से आत्महत्या भी कर चुके है। इस महामारी से लड़ने के लिए भारत के बीमा कंपनियों ने कोरोनावायरस इन्शुरन्स (Coronavirus Insurance) मुहैया करा रही है। यहाँ आपको इससे जुड़े सभी जानकारियां मिल जाएगी।

कोरोनावायरस इन्शुरन्स की जरुरत क्या है ?

कोरोना का इलाज काफी महँगा है जो की आप आये दिन न्यूज़ चैनल पर देख सकते है और अगर यही किसी बड़े शहर और प्राइवेट हॉस्पिटल पर इलाज करवाया जाये तो प्रति व्यक्ति कई लाखों तक का खर्च हो जाता है। कोरोनावायरस के संक्रमण के मामले में स्क्रीनिंग, टेस्टिंग से लेकर चिकित्सा व हॉस्पिटल खर्च इसके साथ क्वारंटाइन के दौरान होने वाले खर्चे साथ की कोई प्रेग्नेंट हो या नवजात शिशु के खर्चों के भुगतान के लिए कोरोनावायरस बीमा की जरुरत को समझ सकते है। इस कोरोनावायरस बीमा में कोरोना के इलाज से जुड़े आवश्यक जरुरत को कवर की या जाता है जिनमे चिकित्सा हो या हॉस्पिटल के खर्च। इसकी सहायता से कोरोना से उबरने में आपको मदद मिलती है। अभी के समय में भारत में इस महामारी से लड़ने के लिए कई स्वस्थ बीमा कंपनी कई विकल्प व सुविधा के साथ कई बीमा प्लान बाजार में उपलब्ध कराये है।

कोरोनावायरस इन्शुरन्स में क्या क्या कवर किया जाता है ?

इस महामारी बीमा को उन सभी बातों को ध्यान में रखकर बनाया गया है जो की इस कोरोनावायरस के कारण होने वाले खर्चों को सम्हालने में मदद करती है। आइये देख लिए किस तरह यह सुरक्षा प्रदान करती है।

कोरोनावायरस के संक्रमण के इलाज के लिए काफी खर्च होता है इन खर्चो को और हॉस्पिटल के खर्चों को यह बीमा कवर करती है। हॉस्पिटल के बिल, चिकित्सा के खर्चे इसमें शामिल किया गया है। इसके आलावा भी क्वारंटाइन के दौरान होने वाले खर्चों को भी कवर किया जाता है इसमें उन सभी को शामिल किया गया है जो सरकारी सुविधा के अंतर्गत रखा गया है। इसके बारे में अधिक जानकारी सभी बीमा कंपनी के एजेंट देते है व उनके वेबसाइट पर मिल जाता है।

अलग अलग बीमा कंपनी के कोरोनावायरस बीमा पर अलग अलग सुविधाएँ दिया गया है जो की एक दूसरे से अलग हो सकते है। कुछ बीमा कंपनी अपने बीमा प्लान में कोरोना के स्क्रीनिंग की जरुरत नहीं होती तो किसी में नहीं। किसी बीमा प्लान में गर्भावस्था व नवजात बच्चों के खर्चों को भी कवर किया जाता है। ऐसे और भी कई सुविधा वाले बीमा है जो न केवल कोरोना से बल्कि बाकि चीजों को भी कवरेज प्रदान करती है। आपको अपने आवश्यकता अनुसार कोरोनावायरस बीमा लेना चाहिए।

कोरोनावायरस इन्शुरन्स का क्लेम प्रोसेस :

अगर किसी वजह से कोरोना संक्रमित होते है तो हॉस्पिटल और चिकित्सा में होने वाले खर्चों के लिए कोरोनावायरस बीमा पर क्लेम कर सकते है इसके इनमे से किसी एक तरीके से क्लेम कर सकते है।

कैशलेस क्लेम (Cashless Claims) : इसके नाम से ही आप समझ सकते है यह कैशलेस अर्थात बिना पैसे के। इसमें आपको आपकी बीमा कंपनी से एक बीमा हेल्थ कार्ड दिया जायेगा जो हॉस्पिटल में दिखाकर बिना जेब से पैसे लगाकर इलाज और हॉस्पिटल के बिल पेमेंट कर सकते है। इसमें आपको उन हॉस्पिटलों में सुविधा मिलती है जिन हॉस्पिटलों का नेटवर्क आपके बीमा कंपनी से जुड़ी हुई हो। जब आप बीमा लेते है तब बीमा कंपनी के बुकलेट पर या उनके वेबसाइट/एप में उन सभी हॉस्पिटलों के नाम दिए हुए रहते है इनमे आप कैशलेस पेमेंट कर सकते है। आपकी बीमा कंपनी से पहले से यह जानकारी ले लें की उनकी किस किस हॉस्पिटल में कैशलेस सुविधा मिलती है और किस प्रकार इसका लाभ ले सकते है।

रैम्बुरसेमेन्ट क्लेम (Reimbursement Claims) : इस प्रोसेस के अनुसार आपके चिकित्सा और हॉस्पिटल के खर्चों का पेमेंट अभी खुद कर ले इसके बाद सभी बिल और खर्चों को मिलकर बीमा कंपनी पर क्लेम कर सकते है। इस तरह के क्लेम में आपको चिकित्सा के रिपोर्ट, बिल, दवाइयों के पक्का बिल जमा करके उनको क्लेम फॉर्म के साथ लगाकर जमा करना होता है और बीमा कंपनी जाँच करके अपने अकाउंट पर पैसे ट्रांसफर कर देते है। इसके लिए इस बात का ध्यान रखना जरुरी है की सभी रिपोर्ट्स, बिल, रिसिप्ट और जो भी चिकित्सा और हॉस्पिटल में खर्च हुआ है उसके दस्तावेज (कोरोनावायरस हेतु अलग से कुछ दस्तावेज मांगे जा सकते है जो आपको बीमा कंपनी बता देगा और आप भी इसकी जानकारी पहले से ले लें)।

कोरोनावायरस इन्शुरन्स के लिए जरुरी दस्तावेज :

चलिए जान लीजिये कोरोनावायरस जैसे महामारी के बीमा लेने के लिए क्या क्या दस्तावेजों की जरुरत पड़ती है। जब आप कोरोनावायरस बीमा खरीदें तो ये सभी दस्तावेजों संग्रह कर लें।
• फोटो आईडी प्रूफ : इसके लिए आप आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट और ड्राइविंग लाइसेंस फोटो आईडी प्रूफ में इस्तेमाल कर सकते है।
• एड्रेस प्रूफ : पते के लिए इलेक्ट्रिक बिल, टेलीफ़ोन बिल, राशन कार्ड जैसे दस्तावेजों का इस्तेमाल कर सकते है।
• ऐज प्रूफ : आयु के सत्यापन के लिए जन्म प्रमाणपत्र, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस जैसे दस्तावेज इस्तेमाल कर सकते है।
• इनकम प्रूफ : इसके लिए ITR फाइल की कॉपी, सैलरी स्लिप जैसे दस्तावेज लगा सकते है।
• मेडिकल सर्टिफिकेट: कोरोनावायरस बीमा लेने के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट की जरुरत होती है।

यह भी जानना जरुरी है कोरोनावायरस इन्शुरन्स के लिए :

कोरोनावायरस बीमा खरीदने से पहले यह जानना बहुत जरुरी है। जैसे की उस ब्यक्ति या उसके परिवार के सदस्यों के यात्रा पर ध्यान दिए जाता है। इसके अनुसार बीमा लेने वाले और उसके परिवार वाले पिछले 1 दिसंबर 2019 के बाद चीन, थाईलैंड, हांगकांग, सिंगापूर, इटली, मलेशिया, जापान, ताईवान, ईरान, कुवैत जैसे देशों की यात्रा नहीं की। इसके आलावा और भी कुछ मुख्य नियम है जिसके बारे में अच्छे से जान लेना बहुत जरुरी है और इसके सभी जानकारी पॉलिसी के एजेंट के द्वारा दिया जाता है। इसके साथ एजेंट द्वारा दी गयी जानकारी पॉलिसी के कागज में लिखा होना भी ध्यान से जाँच कर ले। कई बार बीमा धारक को इस लिए परेशान होना पड़ता है क्यूंकि उन्हें एजेंट द्वारा बढ़ा-चढ़ाकर बोला जाता है जो पॉलिसी के कागज से अलग होता है ऐसी स्थिति में क्लेम के समय काफी दिक्कत होती है। इसी लिए पॉलिसी के सभी नियम और शर्तों की जानकारी अच्छे से ले लें।

This is Full Information about Coronavirus Insurance. Why Everyone Needs Coronavirus Insurance ? Know Everything about Coronavirus Insurance.

No comments:

Post a comment